Wishes

गीता जयंती की आप सभी को हार्दिक शुभकामनाएं

यदा यदा हि धर्मस्य ग्लानिर्भवति भारत ।
अभ्युत्थानमधर्मस्य तदात्मानं सृजाम्यहम् ॥

भावार्थ:-
हे अर्जुन ! जब भीऔर जहाँ भी धर्म का पतन होता है और अधर्म की प्रधानता होने लगती है ,तब_तब मैं अवतार लेता हूँ ।

#गीता_जयंती की आप सभी को हार्दिक शुभकामनाएं।

#Kurukshetra

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close